शिक्षा ताले की वह कुंजी है जो प्रगति, समृद्धि और सशक्तीकरण के द्वार खोलती है: उपराष्ट्रपति जगदीप धनखड़

नई दिल्ली: "परिवर्तन के लिए शिक्षा का सबसे प्रभावशाली और परिवर्तनकारी तंत्र है. शिक्षा केवल ज्ञान प्राप्त करने का साधन ही नहीं है; बल्कि प्रगति, सशक्तीकरण और सामाजिक बदलाव की आधारशिला भी है. [...]

2024-05-11T13:20:23+05:30

जम्मू विश्वविद्यालय में ‘उर्दू साहित्य के विकास में गैर-मुस्लिम लघु कथाकारों का योगदान’ विषय पर राष्ट्रीय संगोष्ठी

जम्मू: जम्मू विश्वविद्यालय और जम्मू-कश्मीर कला, संस्कृति और भाषा अकादमी के उर्दू विभाग द्वारा 'उर्दू साहित्य के विकास में गैर-मुस्लिम लघु कथा लेखकों का योगदान' विषय पर दो दिवसीय राष्ट्रीय संगोष्ठी का निष्कर्ष [...]

2024-05-11T13:20:22+05:30

टैगोर और गांधी को याद करते हुए राष्ट्रपति मुर्मु ने छात्रों को ‘क्या सीखना है’ के साथ-साथ ‘कैसे सीखना है’ की दी सलाह

धर्मशाला: "शिक्षा ऐसी होनी चाहिए जो विद्यार्थियों को शिक्षित करने के साथ-साथ उनको आत्मनिर्भर बनाये, उनके चरित्र और व्यक्तित्व का निर्माण करे. चरित्र से रहित ज्ञान को महात्मा गांधी ने पाप का [...]

2024-05-11T13:20:21+05:30

इतिहास को देखो और भविष्य बनाने की प्रेरणा वहीं से लो: पुस्तक ‘ब्रोकन प्रामिसेज’ का विमोचन करते हुए हरिवंश

रांची: समाजसेवी लेखक और राजनेता मृत्युंजय शर्मा की पुस्तक 'ब्रोकन प्रामिसेज' का विमोचन स्थानीय आड्रे हाउस में राज्यसभा के उपसभापति हरिवंश, भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष बाबूलाल मरांडी, विकास भारती के संस्थापक और पद्मश्री से [...]

2024-05-11T13:20:20+05:30

अलीगढ़ विश्वविद्यालय में उर्दू साहित्य में महिलाएं तथा जामिया उर्दू में साहित्य, समाज और व्यक्तित्व पर परिचर्चा

अलीगढ़: अलीगढ़ में उर्दू को लेकर दो बड़े आयोजन हुए, जिसमें उर्दू साहित्य में महिलाओं की स्थिति के साथ ही साहित्य, समाज और व्यक्तित्व पर उसके प्रभाव संबंधी बौद्धिक विमर्श हुए. अलीगढ़ [...]

2024-05-11T13:20:20+05:30

ताकि बची रहे पृथ्वी और हमारा कल: अंतर्राष्ट्रीय सूर्य दिवस पर मैराथन, अंतर-विद्यालयी सौर कला प्रतियोगिता

नई दिल्ली: भारतीय अस्मिता सूर्य को देव ही नहीं भगवान मानती है और पृथ्वी तो मां के रूप में पूज्य हैं ही. केवल प्रभु श्री राम ही नहीं बल्कि महात्मा [...]

2024-05-11T13:20:17+05:30

रामसनेही राय की पुस्तक ‘ज्ञानदीप’ का विमोचन, हमारे समय का समूचा सामाजिक परिदृश्य दर्ज है इसमें

मऊ: वरिष्ठ साहित्यकार व शिक्षाविद रामसनेही राय की पुस्तक 'ज्ञानदीप' का विमोचन जिले के वरिष्ठ साहित्यकारों द्वारा किया गया. यह पुस्तक तीन खंडों में है, जिसमें विभिन्न सामाजिक परिदृश्य का उल्लेख किया गया [...]

2024-05-11T13:20:14+05:30

राजस्थान के उपमुख्यमंत्री डा प्रेमचंद बैरवा ने पुस्तक ‘आज का हिंदी साहित्य एवं साहित्यकार’ का किया विमोचन

जयपुर: राजस्थान के उप मुख्यमंत्री डा प्रेमचंद बैरवा ने टोंक निवासी डा धर्मेन्द्र वर्मा एवं नयना जैन की  पुस्तक 'आज का हिंदी साहित्य एवं साहित्यकार' का विमोचन किया. इस अवसर [...]

2024-05-05T11:17:43+05:30

व्यंग्य का मर्म इतना जाना है… माध्यम, जबालि व्यंग्यम और गुंजन द्वारा ‘हास्यम-व्यंग्यम संध्या’ का आयोजन

जबलपुर: स्थानीय जय नगर में 'माध्यम', 'जबालि व्यंग्यम' और 'गुंजन कला' के संयुक्त तत्वावधान में 'हास्यम- व्यंग्यम संध्या' का आयोजन हुआ. इस कार्यक्रम में रायपुर से पधारे व्यंग्यकार केपी सक्सेना [...]

2024-05-05T11:17:42+05:30

तपन-ताप से मुक्ति मिले फिर गुलमोहर की छांव में… नटवर साहित्य परिषद की कवि गोष्ठी सह मुशायरा

मुजफ्फरपुर: स्थानीय श्री नवयुवक समिति के सभागार में नटवर साहित्य परिषद की ओर से मासिक कवि गोष्ठी सह मुशायरा का आयोजन हुआ, जिसमें गीत-गजलों की बयार बही. कार्यक्रम की शुरुआत [...]

2024-05-05T11:17:41+05:30
Go to Top