About admin

This author has not yet filled in any details.
So far admin has created 142 blog entries.

समकालीन कहानी समय के बदलाव को रेखांकित करती है

पटना, 10 सितंबर। " आज की हिंदी कहानी  अपने समय में हो रही सामाजिक-आर्थिक बदलाव को सामने लाती है और नए समरस मूल्यों के समाज में सहायक बनती है। चर्चित [...]

समकालीन कहानी समय के बदलाव को रेखांकित करती है 2018-09-10T11:42:28+00:00

भारतेंदु जयन्ती पर बिहार के नाट्य साहित्य पर परिचर्चा

 पटना, 10 सितंबर । "महाकवि तुलसी के बाद साहित्य के माध्यम से लोकजागरण  का काम भारतेंदु हरिश्चंद ने किया। उन्होंने खड़ी बोली हिंदी को माध्यम बनाकर  इसका नया रूप गढ़कर आधुनिक [...]

भारतेंदु जयन्ती पर बिहार के नाट्य साहित्य पर परिचर्चा 2018-09-10T11:41:39+00:00

भारत के भुज बल जग रच्छित ‘भारतेन्दु हरिश्चंद्र’ को शतशत नमन

''निज भाषा उन्नति अहै सब उन्नति को मूल, बिन निज भाषा ज्ञान के मिटे न हिय को शूल.' अपनी मातृभाषा के प्रति प्रेम की ऐसी उत्कृष्ट और सर्वस्वीकार्य पंक्तियों के [...]

भारत के भुज बल जग रच्छित ‘भारतेन्दु हरिश्चंद्र’ को शतशत नमन 2018-09-09T13:16:04+00:00

गीतकार शायर इब्राहीम अश्क के साथ कवि-गोष्ठी

पटना, 9 सितंबर। मशहूर शायर और फिल्मी गीतकार इब्राहिम अश्क के पटना आगमन पर उनके साथ एक काव्य गोष्ठी का आयोजन एडुकोन, बोरिंग रोड, पटना में किया गया. कई शायरों  [...]

गीतकार शायर इब्राहीम अश्क के साथ कवि-गोष्ठी 2018-09-09T13:15:50+00:00

कथा साहित्य संघर्ष के दौर में खूब लिखा जाता है- राय

पटना, 8 अगस्त।  बिहार हिंदी साहित्य सम्मेलन के तत्वाधान में राजभाषा हिंदी पखवाड़ा चल रहा है। इस मौके पर साहित्य सम्मेलन में 'पुस्तक चौदस मेला-2018' का भी आयोजन किया गया [...]

कथा साहित्य संघर्ष के दौर में खूब लिखा जाता है- राय 2018-09-08T20:47:42+00:00

दिल्ली में हिंदी पखवाड़ा, बिहारशरीफ में पुस्तक मेला

नई दिल्लीः राष्ट्रीय पुस्तक न्यास, भारत में हिंदी पखवाड़ा मना रहा है. इस अवसर पर न्यास ने न केवल अपने कर्मचारियों के लिए विभिन्न हिंदी प्रतियोगिताओं का आयोजन किया, बल्कि [...]

दिल्ली में हिंदी पखवाड़ा, बिहारशरीफ में पुस्तक मेला 2018-09-08T20:05:16+00:00

साहित्यायन का स्थापना समारोह: व्याख्यान, सम्मान और सांस्कृतिक सांझ

नई दिल्लीः  तीन साल पहले सामाजिक सरोकारों से जुड़े साहित्यकारों द्वारा गठित साहित्यायन परिवार ने बड़े धूमधाम से ट्रस्ट का तीसरा स्थापना दिवस मनाया. इस अवसर पर कई दशकों से [...]

साहित्यायन का स्थापना समारोह: व्याख्यान, सम्मान और सांस्कृतिक सांझ 2018-09-08T20:04:58+00:00

विस्तार है अपार वाले भूपेन दा की याद

वह असम के नहीं समूचे देश के थे, इसकी माटी के थे. ब्रह्मपुत्र की धारा की तरह एकसाथ तीव्र और धीरवान दोनों. हम बात कर रहे हैं भारतीय गीत, संगीत, [...]

विस्तार है अपार वाले भूपेन दा की याद 2018-09-08T11:48:57+00:00

भारत कला भवन में लगी कवि लीलाधर मंडलोई के छायाचित्रों की प्रदर्शनी

वाराणसीः हाल के दिनों में हमारे समय के चर्चित कवि-संपादक लीलाधर मंडलोई ने छायाचित्रों के जरिये मुक्तिबोध के बिम्बों को तलाशने की उल्लेखनीय कोशिश की है. अपने आसपास की चिर-परिचित [...]

भारत कला भवन में लगी कवि लीलाधर मंडलोई के छायाचित्रों की प्रदर्शनी 2018-09-08T11:44:15+00:00

हिंदी कविता में बिहार के कवियों का योगदान

पटना, 6 अगस्त।  बिहार हिंदी साहित्य सम्मेलन में आयोजित हिंदी पखवारा के तीसरे दिन हिंदी काव्य में बिहार का योगदान विषय पर संगोष्ठी  आयोजित की गई। भूपेंद्र नारायण मंडल विश्विद्यालय, [...]

हिंदी कविता में बिहार के कवियों का योगदान 2018-09-08T11:44:01+00:00