संस्कार भारती का गांधी की स्मृति में सांस्कृतिक कार्यक्रम

2018-10-04T17:17:32+00:00

नई दिल्लीः महात्मा गांधी की 150वीं जयंती के उपलक्ष्य में गांधी स्मृति एवं दर्शन समिति तथा संस्कार भारती की ओर से 'कला-संस्कृति संगम:चरखा' नाम से  तीन दिवसीय आयोजन किया जा रहा है. इस कार्यक्रम में अलग-अलग राज्य, संस्कृति, भाषा, बोली एवं वेशभूषा के लोग सम्मिलित हो रहे हैं. इस संगम में विमर्श के विषय हैं, अहिंसा एवं भारतीयता, भारत एवं नारी, भारत का दृष्टिकोण और स्वाच्छागृह. 4 और 5 अक्टूबर को गायन एवं वादन का कार्यक्रम रखा गया है, वहीं  6 अक्टूबर को सायंकाल 6 बजे से 9 बजे तक कविता, नाटक, नृत्य एवं गायन-वादन और लोक कलाओं की प्रस्तुति होगी. कार्यक्रम के पहले दिन ध्रुपद का आयोजन है, जाने माने ध्रुपद गायक पद्मश्री उस्ताद वसिफुददीन डागर अपनी प्रस्तुति देंगे. इसके प्रस्तोता सुरबहार वादक डॉ अश्विन दलवी होंगे. कार्यक्रम में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सह सरकार्यवाहक सुरेश सोनी मुख्य अतिथि होंगे, वहीं राज्यसभा सांसद डॉ अनिल जैन विशिष्ट अतिथि होंगे. संगीत नाटक अकादमी के अध्यक्ष शेखर सेन इस कार्यक्रम की अध्यक्षता करेंगे. समारोह में लोकगायिका मालिनी अवस्थी का सान्निध्य रहेगा. इसी दिन सी.सी.आर.टी. की चेयरमैन डॉ हेमलता एस मोहन चिकित्सा प्रदर्शनी का उद्घाटन करेंगी. इस समारोह में नेशनल गैलरी ऑफ मार्डन आर्ट के महानिदेशक अद्वैत गड़नायक का सानिध्य प्राप्त होगा. यह प्रदर्शनी प्रतिदिन 11 बजे से 9 बजे तक खुली रहेगी.

 

दूसरे दिन के कार्यक्रम में भारत सरकार के संस्कृति मंत्री डॉ महेश शर्मा मुख्य अतिथि होंगे. संतूर वादक पंडित भजन सोपोरी एवं अभय सोपोरी अपनी खास प्रस्तुति देंगे. जाने माने बांसुरी वादक प्रस्तोता होंगे. वहीं दूसरे दिन के कार्यक्रम में इंदिरा गांधी राष्ट्रीय कला केंद्र के सदस्य सचिव डॉ सच्चिदानंद जोशी का सानिध्य प्राप्त होगा. आखिरी दिन सायं 6 बजे से रात्रि 9 बजे तक चलने वाला मुख्य समारोह गांधी स्मृति एवं दर्शन समिति, राजघाट, नई दिल्ली में आयोजित होगा. इस दिन कुचिपुड़ी, भरतनाट्यम, ओडिसी, कथक, कथकली, मोहिनीअट्टम, मणिपुरी और सत्रिया इनआठों शास्त्रीय नृत्यों की एक मंच पर एक साथ प्रस्तुति होगी. इस दिन नाटक एवं समूह गायन-उड़ान तथा राजस्थानी लोकगीत एवं हरियाणवी लोकनृत्य की भव्य प्रस्तुति भी होगी. इस कार्यक्रम में मुख्य अतिथि विदेश मंत्री श्रीमती सुषमा स्वराज होंगी. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सह सरकार्यवाहक डॉ कृष्ण गोपाल विशिष्ट अतिथि होंगे. अन्य प्रमुख अतिथियों में सांसद मनोज तिवारी, संस्कार भारती के संरक्षक कलाऋषि बाबा योगेंद्र (पद्मश्री) और मप्र की शहरी विकास मंत्री माया सिंह प्रमुख रुप से शामिल होंगे. फिल्म निर्देशक सुभाष घई, पटकथा लेखक कमलेश पाण्डेय, डॉ चंद्रप्रक्राश द्विवेदी, नाटककार  सलीम आरिफ और राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के अ.भा. बौद्धिक प्रमुख स्वांत रंजन का भी सान्निध्य होगा. इस खास कार्यक्रम के स्वागताध्यक्ष राज्यसभा सांसद डॉ आर के सिन्हा हैं.

About the Author:

Leave A Comment