ज्ञानवृत्ति 2017 – नियम और शर्तें 2017-12-22T07:26:37+00:00

ज्ञानवृत्ति 2017 – नियम और शर्तें

आर्हता

  • दैनिक जागरण ज्ञानवृत्ति हेतु आवेदन की अंतिम तिथि 31 दिसंबर, 2017 है.
  •  आवेदक की उम्र 01 जनवरी 2018 को 25 वर्ष से कम नहीं होनी चाहिए.
  •  दैनिक जागरण ज्ञानवृत्ति के लिए कोई भी भारतीय नागरिक आवेदन कर सकता है.
  •  दैनिक जागरण ज्ञानवृत्ति के लिए आवेदक को कम से कम स्नातक होना आवश्यक है.
  • आवेदक को हिंदी का ज्ञान आवश्यक है क्योंकि शोधकार्य हिंदी में संपन्न करना होगा.

नियम और शर्तें

  1. दैनिक जागरण ज्ञानवृत्ति के लिए शोधार्थियों का चयन विशेषज्ञों की एक समिति करेगी ।
  2. दैनिक जागरण ज्ञानवृत्ति के इच्छुक अभ्यार्थी एक हजार शब्दों में अपने शोध की रूपरेखा प्रस्तुत करेंगे।
  3. दैनिक जागरण ज्ञानवृत्ति की अवधि कम से कम छह महीने और अधिकतम नौ महीने की होगी ।
  4. दैनिक जागरण ज्ञानवृत्ति के लिए मानदेय पचहत्तर हजार रु प्रतिमाह होगा।
  5. दैनिक जागरण ज्ञानवृत्ति के लिए चयनित अभ्यार्थी को शुरुआत में एक महीने का मानदेय अग्रिम दिया जाएगा। उसके बाद हर तीन महीने के बाद शोध की प्रगति समीक्षा के बाद एक मुश्त भुगतान किया जाएगा
  6. शोध के दौरान किसी भी स्थिति में सवा दो लाख रुपए से ज्यादा का भुगतान एकमुश्त नहीं किया जा सकेगा।
  7. मानदेय पर सरकार द्वारा तय कर लागू होगा।
  8. शोध की प्रगति के दौरान जूरी के पास ये अधिकार होगा कि वो संतुष्ट नहीं होने की स्थिति में भुगतान या शोध या दोनों रोक सके।
  9. दैनिक जागरण ज्ञानवृत्ति के अंतर्गत कविता, कहानी, उपन्यास के प्रस्ताव पर विचार नहीं किया जाएगा।
  10. दैनिक जागरण ज्ञानवृत्ति के दौरान शोधार्थी से अपेक्षा होगी कि वो हर पखवाड़े अपने शोध से संबंधित हजार शब्दों का एक लेख प्रस्तुत करेंगे। दैनिक जागरण के पास इस लेख को प्रकाशित करने का सर्वाधिकार सुरक्षित होगा।
  11. दैनिक जागरण ज्ञानवृत्ति शोधकार्य पूरा होने पर उसके प्रकाशन का सर्वाधिकार दैनिक जागरण के पास होगा। लेकिन पुस्तक लेखक के नाम से होगी और उसकी कॉपीराइट भी शोधार्थी को मिलेगी।
  12. दैनिक जागरण ज्ञानवृत्ति के दौरान किसी भी वक्त शोध की प्रगति संतोषजनक नहीं होने से दैनिक जागरण के पास अनुबंध को रद्द करने का अधिकार होगा।
  13. अगर आप दैनिक जागरण ज्ञानवृत्ति के लिए चुने गए और किसी कारणवश शोध पूरा नहीं कर पाए तो आपको फिर से दैनिक जागरण ज्ञानवृत्ति में आवेदन का अधिकार नहीं होगा
  14. दैनिक जागरण ज्ञानवृत्ति शोध बीच में छोड़ने पर भुगतान की गई राशि के अलावा एक लाख रुपए का हर्जाना दैनिक जागरण को देना होगा ।
  15. आवेदक यह जानता है कि जूरी के सदस्यों और दैनिक जागरण को उनके शोध प्रस्ताव की जानकारी है, बाद में उसपर किसी भी स्थिति में बौद्धिक संपदा पर किसी तरह का दावा नहीं करेंगे।

आवेदन की प्रक्रिया

  1. आवेदन करने के पहले नियम और शर्तों को ध्यान से पढ़ लें
  2. आवेदन फॉर्म ऑनलाइन फॉर्मेट में ही स्वीकार किए जाएंगें ।
  3. दैनिक जागरण ज्ञानवृत्ति से संबंधित सभी विवादास्पद मामले सिर्फ दिल्ली की सक्षम अदालत में होगा।
  4. शोधार्थियों के चुनाव में चयन समिति का अधिकार अंतिम होगा। दैनिक जागरण किसी भी आवेदक को चयन समिति की टिप्पणी, सम्मति आदि उपलब्ध करवाने में असमर्थ रहेगा।
दैनिक जागरण ज्ञानवृत्ति